आखिर कब तक, ,,,,,,,

एक तस्वीर उभरती है कभी कभी
मेरे जेहन मे तेरे यादो की
तब जब ऑसूओ को जरूरत होती है
कुछ कहती नही लब्जे लेकिन
मायुसीयत का शैलाब है सीने मे
जिन्दगी की हर कड़ी पर गम है
तेरे नामवजुदगी की लेकिन
आश नही कही तेरे आने की
एक तस्वीर उभरती, ,,,,,
मेरे जेहन मे,,,,,,,,,,,
गुम सी गई है मुस्कान की लकीरे
तेरी आहटो का अहसास करती हूँ
लेकिन चले जाने का अहसास उभरती है
पूछतेी है मेरी भीगी पलके
कब तक थमी रहेगी मायुसीयत
साज बनकर मेरे सीने मे
कब तक ,,,,,,
एक तस्वीर, ,,,,
मेरे जेहन ,,,,,,,

Advertisements

आरजु है जिन्दगी, ,,,,,,,

जिन्दगी की तन्हाईयो से
एक आरजु है आती

कर ले मुक्कमल ये जिन्दगानी
गूजारीश थी मुस्काने की

पर एतबार कीया आॅखो से
यु ही छलक जाने की

कटती जा रही है जिन्दगी की पतवार
तमन्ना नही पर साहील तक जाने की

मचल्लति है ख्वाहिशो के फसाने
पर ना मीला कोई सम्मभल जाने की

जिन्दगी की ,,,,,,,,,,,,
एक आरजु है,,,,,,,,,,,,

firstly you think about self,,,,,,,,,

Hellooooo friends we are all human being & we all love self.but todays we have big problem,
You are thinking what????????
Now Most of the people interfere of other person & jellies him success.
Friends i ask why??????
Why jellies him.why interfere other person.
You know what can you do for better achievements.
Then firstly you think about self & create drem for self.
If you heartly love something really you can achive.
Thanks

why am I girl,,,,,,,,

Hello everyone today someone aske me why am i girl.i shocked when i saw seven year old girl behind me.then i aske them what is your name? reply me Nandani.after that i was thinking about this question “why am i girl”
I asked nandani “why am i girl” this type of question why ask me??
Nandani reply me becoz my teacher………………………………………….
I cant explain her feelings.can you think about only seven year old girl ask this type of question.NO
I am a girl but i have no answer for this question.
Have you ans ????????
Why am i girl????????
What is my fault ???

without risk nothing achivment 

Hello friends we all know about risk but no body want to express about relation of risk & success. …………..

It is true without risk no body achive success.becoz any success behind the your intelligence.means any type of work we can do but first of all know about self .what can do ?

What you want????? Clear the vision & decided heartly.think about your vision without fear becoz something is better than nothing.& get start…..My friend really you can do & get success believe me.

                                                        Thanks

बदनाम गली की औरत थी वो,,,,

बदनाम गली की औरत थी वो
जाने कीस गली की मुरत थी वो
जिस्म का सौदा यु बाजार मे
हर रोज होती उसके व्यापार मे

मन की पीडा तन का मरहम
नही मीलती उसके संसार मे
रौनक उस जिस्म की बोटीयो की
ढल गयी उम्र के एक पडाव मे

झुरीयो से लीपटी चमडी उन
ऑखो पर यु काली पट्टी
एक कोने मे थी वो दुबकी
पुछा तो वो बोली बदनाम

गली की औरत हुॅ मै
ऑचल के धब्बो से कलंकित हुॅ मै
अब नही होता मेरा सौदा
नही आते मेरे सौदागर

कट रही है जिन्दगी्
एक काॅटो भरी ठहरावो मे
जाके पुछूंगी उस खुदा से
क्यु थी बदनाम गली की औरत
क्यु है हर शाम की प्यास मे औरत
,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,,

मन का आॅगन,,,,,

बीच लहरो मे वो कीनारा मीला
ना चाहा जीसे वो सहारा मीला
मुद्दतो से बुनी थी ख्वाहिशे जीसकी
टुट टुट कर यु बेसहारा गीरा
मन का घाव कोई देख ना पाये
हर पल यु जख्म का पीटारा मीला
होती है आसमानो की बाते
होती है चाॅद तारो की बाते
फीर भी मन का आँगन सुना
जगे पलको से करवटे बदलना
दुनिया की रीत बडी नीराली
हर घुट है शीस्कती प्याली
चाहे जीतना कर लो जतन
हर मुस्कान है अधुरी
हर पहचान है अधुरी
बीन मीत की ये जोगन
बीच लहरो मे……
ना चाहा जीसे……